USED TEA LEAF BENEFIT उबली हुई चायपत्ती को फेंके नहीं, इस तरह करें घर के कामों में रियूज

Home > USED TEA LEAF BENEFIT उबली हुई चायपत्ती को फेंके नहीं, इस तरह करें घर के कामों में रियूज

USED TEA LEAF BENEFIT , USED TEA LEAF BENEFIT ,USED TEA LEAF BENEFIT , USED TEA LEAF BENEFIT USED TEA LEAF BENEFIT , USED TEA LEAF BENEFIT USED TEA LEAF BENEFIT उबली हुई चायपत्ती को फेंके नहीं, इस तरह करें घर के कामों में रियूज ,उबली हुई चायपत्ती को फेंके नहीं, इस तरह करें घर के कामों में रियूज,उबली हुई चायपत्ती को फेंके नहीं, इस तरह करें घर के कामों में रियूज,उबली हुई चायपत्ती को फेंके नहीं, इस तरह करें घर के कामों में रियूज,उबली हुई चायपत्ती को फेंके नहीं, इस तरह करें घर के कामों में रियूज|

चाय के बिना ज्यादातर लोगों के दिन की शुरूआत नहीं होती। हर कोई दिन में अपनी जरूरत कि हिसाब से चाय पीते हैं। चाय बनाने के बाद लोग चायपत्ती को फेंक देते हैं क्योंकि उनको लगता है कि यह किसी काम की नहीं रही। मगर एेसा नहीं है इस उबली हुई चायपत्ती को दोवारा इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमे पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट न केवल त्वचा को निखारने के काम आता है बल्कि और भी कई काम में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसलिए इसे फैंके नहीं बल्कि अलग-अलग कामों में यूज करें।

1. जख्मों पर लगाएं
उबली हुई चायपत्ती को फेंक ना। इसमें पाएं जाने वाले गुण जख्मों को सुखाने में मददगार होते हैं। चायपत्ती को उबाल कर उसका लेप लगाएं। जिस पानी में इसको उबाला है उसको फेंके न। उस पानी का इस्तेमाल घाव को धोने में करें। 

2. काबुली चने में डाले
जब भी काबुली चने यानि काले चने को उबाल रहे हो तो उसमें थोड़ी सी उबली हुए चायपत्ती डाल दें। इसको डालने से चने की रंगत निखर जाएगी। 

 

3. शीशे चमकाने के लिए 
इसे पानी में उबाल कर ठण्डा करके छान लें और इस पानी को स्प्रे की बोतल में डालकर शीशे की सफाई करें इससे शीशे में चमक आएगी।

4. फर्नीचर को करे साफ
फर्नीचर को साफ करने के लिए भी उबली हुई चायपत्ती का इस्तेमाल कर सकते हैं। उबली हुई चायपत्ती को अच्छे से धोने के बाद एक बार फिर धो लें। अब इस पानी को एक स्प्रे बॉटल में भरकर, फर्नीचर की सफाई करें। इससे फर्नीचर चमक उठेगा। 

5. पौधे की खाद
उबली हुई चायपत्ती का इस्तेमाल पौधों की खाद के रूप में भी किया जा सकता है। पौधों को पानी के साथ समय-समय पर खाद की जरूरत होती है। ऐसे में बची हुई चायपत्ती को गमले में डाल दें। इससे पौधे स्वस्थ रहेगें और जल्दी बढ़ेगे।

[Total: 8   Average: 5/5]
Share this Business:

( When You Call Advertiser Kindly Tell Them You Find This Advertisement On www.adbook.in )

Contact Details

Send Message





    Please wait
    Get Directions to this business

    Send Message




      Translate »
      Open chat
      1
      SOON WE CONTACT YOU