Impossible star (remixed)Tidy Home Service In Tricity ( ONE CALL CAN SOLVE ALL YOUR HOUSE PROBLEM ) SERVICE ARE -:Electricians Carpenters ,Plumbers,Painters,Car Machanic & More Call-: 8146888148 . Impossible star (remixed)Raj Interior Decorator In Tricity (A House Of Complete Interior ) Servicing In-:Vertical & Venetian Blinds,Chicks Blinds,Roller Blinds,Zebra Blinds,Wooden Blinds,Sun Control Films,Wall Paper & More, Call-:9988638195  Impossible star (remixed)

चायपत्ती के फायदे Home Remedies 9  

Home > चायपत्ती के फायदे Home Remedies 9

चायपत्ती के फायदे

चाय बनने के बाद चाय की पत्तियों का क्या काम। यही सोचते होगें ना आप। इसलिए अक्सर लोग चाय की पत्तियों को कूड़े में डाल देते हैं। हर घर में रोज चाय बनती है। बिना चाय के समझो सेवरा हुआ ही नहीं। चाहे वह ग्रीन टी हो या ब्लैक टी और या फिर दूध वाली चाय। क्या आप जानते हैं दोबार इन चाय की पत्तियों का इस्तेमाल किया जा सकता है जो न केवल आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है बल्कि आपके घर के अन्य कामों में भी आसानी से प्रयोग में लाई जा सकती है।  कैसे आप चाय की पत्तियों का इस्तेमाल दोबारा कर सकते हो।

बालों की चमक के लिए
बालों में चमक व दमक लाती है चायपत्ति। यह एक तरह से प्राकृतिक कंडिशनर का काम करती है।
कैसे करें चायपत्ति का इस्तेमाल
चाय की बची हुई पत्तियों को एक बार धो लें और इन्हें दोबारा पानी में उबाल लें। और फिर इस पानी से अपने बालों को साफ करें। नियमित एैसा करने से बालों में प्राकृतिक चमक आएगी।

गमले की खाद के लिए
गमले में पौधों को समय समय पर खाद की जरूरत होती है। एैसे में आप बची हुई चायपत्ती को साफ कर लें और गमले में डाल दें। इससे आपके पौधे स्वस्थ रहेगें।

लकड़ी के फर्नीचर को चमकदार बनाने के लिए
चायपत्ति का एक और फायदा यह है कि आप इससे लकड़ी से बनी हुई चीजों को चमकदार बनाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हो।
कैसे करें प्रयोग
बची हुई चायपत्तियों को दोबारा से पानी में उबाल लें और इसे किसी शीशी या फिर स्प्रे की बोतल में डाल दें। अब इससे लकड़ी से बने सामानों की सफाई करें। इससे शानदार चमक आती है।

जख्म व चोट के घावों के लिए
चायपत्ति चोट व घावों को जल्दी ठीक करने और उन्हें भरने का काम करती है। चाय की पत्ति एंटीआक्सीडेंट होती है। यदि आपके घाव या चोट लगी हो तो उस पर चायपत्ति लगाते ही  वे जल्दी ठीक हो जाते हैं।

कैसे लगाएं चायपत्ति को चोट पर
सबसे पहले आप चायपत्तियों को उबाल लें और इसे चोट के उपर लगा दें। या फिर आप चायपत्ति के पानी से चोट व घावों को धो सकते हैं। यह सक्रमण से भी आपको बचाती है।

चने की रंगत के लिए
आप चायपत्ति का इस्तेमाल काबुली चना बनाने के लिए भी कर सकते हो।
इसके लिए आप चायपत्तियों को सुखा लें और उसे काबुली चना बनाते समय इस्तेमाल करें। एैसा करने से काबुली चनों का रंग अधिक आकर्षक दिखता है।

[Total: 1    Average: 5/5]
Share this Business:

( When You Call Advertiser Kindly Tell Them You Find This Advertisement On www.adbook.in )

Contact Details

Send Message





Please wait
Get Directions to this business

Send Message




Translate »